HEALTH

क्या है एक बिंदु, क्यों है इसके बिना जीवन अधूरा ?

बिंदु जिसका अंग्रेजी रूपांतरण है डॉट | देखने में और सुनने में एक साधारण सी वस्तु है इसके प्रयोग करने से मानो ऐसा प्रतीत होता है कि इसका कोई अस्तित्व ही नहीं है पर आज हम इस लेख के माध्यम से आपको इस डॉट यानी बिंदु के महत्ववता से परिचित कराने जा रहे हैं अगर मनुष्य जीवन में ये ना होती तो उसका जीवन किन किन रूपों में अधूरा होता | आइये जानते हैं बिंदु से जुड़ी कुछ खास महत्व

गणित में बिंदु का महत्व :- गणित एक ऐसा विषय है जिसमें पल पल पर बिंदु की आवश्यकता पड़ती है| इस बिंदु के ना होने से संख्यों में भारी बदलाव आ जाता है|   गणित की भाषा में इस बिंदु को पॉइंट या डेसीमल के नाम से जाना जाता है| गणित से जुड़े सभी यंत्रों में इस बिंदु को देखा जा सकता है जैसे कैलकुलेटर, गणित का कीपैड आदि| बिंदु की ही सहायता से ही हम एक सटीक निर्णय तक पहुंचने में सफल हो सकते हैं| इस बिंदु के बाद वाली संख्या किसी का भवष्यि बिगाड़ भी सकती है और बना भी सकती है| उदाहरण के लिए किसी प्रतियोगी के 98. 1 प्रतिशित अंक आते हैं और वहीं दूसरे प्रतियोगी के 98 .2 प्रतिशित अंक आये हैं तो इस स्थिति में पहला प्रतियोगी विजेता घोषित किया जायेगा|  ध्यान देने योग्य बात यह है कि बिंदु गणित में मुख्य भूमिका निभाने में सक्षम है अथार्त गणितशास्त्र इस बिंदु के बिना अधूरा है|

अंग्रेषी भाषा में बिंदु का महत्व :- अंतर्राष्ट्रीय भाषा अंग्रेजी, जिसे आज दुनियाभर में एक बड़े स्तर पर प्रयोग किया जाता है| आधुनिक युग के चलते आज अंग्रेजी भाषा को संचार के लिए सबसे उचित भाषा के रूप में माना जाता है साथ ही अंग्रेजी की व्याकरण में भी इस बिंदु का अपना ही एक महत्व है| अंग्रेजी में इस बिंदु को फुल स्टॉप के नाम से पुकारा जाता है| यही फूल स्टॉप एक  बिंदु  भांति दिखाई पड़ता है| अंग्रेजी में इस बिंदु का प्रयोग किसी वाक्य को खत्म करने के लिए किया जाता है अगर इस बिंदु का अंग्रेज्जी भाषा में प्रयोग नहीं किया जाता तो न तो कभी वाक्य ख़त्म होते और ना ही किसी वाक्य का सटीक अर्थ निकलता|

बिंदु के साथ हिंदी :- हिंदी भाषा में किसी भी दिशा से देखा जाए बिंदु के साथ गिरी हुई है फिर वह चाहे हिंदी के कुछ शब्द हों या फिर हिंदी की व्याकरण सभी स्थानों पर ये इस बिंदु की कुछ झलकियां देखने को मिल जायेंगी|  इस बिंदु के ना होने से हिंदी के शब्दों के अर्थों की काया पलटी जाती है| उदाहरण के लिए अगर चिंता शब्द के ऊपर इस बिंदु के प्रयोग नहीं करते तो यह शब्द चिता में तब्दील हो जाता है| दोनों शब्दों के अर्थ बिलकुल विपरीत हैं| हिंदी व्याकरण के नजरिये से भी अगर देखा जाए तो अधिकतर स्थानों पर बिंदु का प्रयोग किया जाता है| अर्थ का अनर्थ वाली परिस्थिति से बचने के लिए इस बिंदी का  प्रयोग करना  बहुत ही आवश्यक है|

संस्कृति को दर्शाती बिंदु :- हिन्दू संस्कृति में एक ओरत के शृंगार के सामान में 16 वस्तुओं का ज़िक्र किया गया है जिनमें से एक बिंदी भी है जिसे भारतीय औरतें अपने मस्तिष्क पर लगा कर अपनी सुंदरता में चार चाँद लगाती हैं और साथ ही भारतीय संस्कृति को भी कायम रखने में सहायक होती हैं| यह बिंदी शब्द बिंदु से ही निकला है और इसी से बिंदु की महत्ववता का भी पता चलता है|

Related posts

Hssc Haryana police मेल कॉन्स्टेबल की 520 रिक्तियों पर आवदेन, इन स्टेप को फॉलो करके करें अप्लाई, जाने पूरी डिटेल

admin

महिला ने की ऐसी गंदी हरकत कि कोर्ट ने खुले में toilet जाने पर लगा दी रोक, करती थी ये गंदा काम

admin

हैरान ! बड़े होते-होते बन जाती हैं इस गांव की लड़कियां लड़का, लोगों ने बताया..

admin

Leave a Comment