Fri, 24 Jun 2022

फसलों के लिए बीमित राशि का मात्र अधिकतम 2 प्रतिशत किसानों द्वारा देय फसल बीमा जारी

फसलों के लिए बीमित राशि का मात्र अधिकतम 2 प्रतिशत किसानों द्वारा देय फसल बीमा जारी

24 जून 2022, भोपाल । म.प्र. में वर्ष 2022 के लिए फसल बीमा टेंडर हुए –मध्यप्रदेश में खरीफ फसल बीमा की अधिसूचना जारी होने के साथ ही प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। इसके लिए 20 जून को बीमा करने वाली कंपनियों के टेंडर कृषि संचालनालय में खुले गये जिसमें आठ कंपनियों ने ऑनलाइन भाग लिया था।

जानकारी के मुताबिक इन कंपनियों से आमंत्रित प्रस्तावों में से दो कम्पनियों एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कम्पनी ऑफ इंडिया तथा रिलायंस की दरें  टेंडर की शर्तों के अनुरूप पाई गई हैं। चयनित कम्पनियों को क्लस्टर आवंटन के साथ अधिसूचना जारी की जायेगी।


वर्ष 2022-23 में फसल हानि का आकलन फसल कटाई प्रयोग के आधार पर न होकर रिमोट सेंसिंग टेक्नोलॉजी द्वारा किया जायेगा।

ज्ञातव्य है कि खरीफ की अधिसूचित फसलों का बीमा की अंतिम तिथि 31 जुलाई है। अऋणी किसान अधिसूचित फसलों का बीमा बैंक/लोक सेवा केन्द्र एवं निर्धारित बीमा कंपनी के प्रतिनिधि के माध्यम से स्वैच्छिक रूप से करवा सकते हैं। ऋणी किसानों का बीमा संबंधित बैंकों के माध्यम से किया जाएगा।

अधिसूचना के अनुसार बीमित फसलों में जिला स्तर पर उड़द एवं मूंग, तहसील स्तर पर ज्वार, कोदो, कुटकी, मूंगफली, तिल व कपास तथा पटवारी हल्का स्तर पर धान सिंचित, धान असिंचित, सोयाबीन, मक्का, बाजरा व अरहर शामिल है। खरीफ मौसम में सभी अनाज दलहन, तिलहन फसलों के लिए बीमित राशि का मात्र अधिकतम 2 प्रतिशत किसानों द्वारा देय है। तथा कपास फसल के लिए अधिकतम 5 प्रतिशत प्रीमियम देय है।