Wed, 27 Jul 2022

पकडे गए डीएसपी हत्याकांड के 9 आरोपी, कुचलने वाला डम्पर भी बरामद, दो दिन की पुलिस रिमांड ​​​​​​

पकडे गए डीएसपी हत्याकांड के 9 आरोपी, कुचलने वाला डम्पर भी बरामद, दो दिन की पुलिस रिमांड

नूंह। हरियाणा के नूंह में खनन माफियाओं द्वारा डीएसपी सुरेंद्र सिंह की हत्या करने के मामले में पांच सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया है। पुलिस कप्तान वरुण सिंगला द्वारा बनाई गई एसआईटी में नूंह से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उषा कुंडू, नूंह, तावडू व पुन्हाना के अपराध जांच शाखा निरीक्षक व थाना सदर तावडू के प्रबंधक शामिल है।

डीएसपी हत्याकांड की जांच इसी कमेटी द्वारा की जाएगी। वहीँ खनन माफिया द्वारा तावडू डीएसपी सुरेंद्र सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने 3 और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिन्हें आज अदालत में पेश किया गया।  तीनों को अदालत ने दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है।  अब तक इस मामले में नूंह पुलिस कुल 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।  बता दें कि इस मामले में पुलिस ने नामजद दो आरोपी (इक्कर व शब्बीर) को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। 

नूंह के एसपी वरुण सिंगला ने बताया कि शहीद डीएसपी सुरेन्द्र सिंह हत्या मामले में अपराध जांच शाखा नूंह ने रविवार को पंचगाव के रहने वाले साबिर उर्फ बैड़ा को गिरफ्तार किया है। आरोपी को कोर्ट में पेश करके 1 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। सोमवार को पंचगाव के ही रहने वाले डंपर मालिक अशरफ उर्फ लाला और अब्बास को गिरफ्तार किया था। अशरफ डंपर चालक शब्बीर उर्फ मित्तर का सगा भाई है।  

एसपी नूंह ने बताया की शहीद डीएसपी सुरेन्द्र की हत्या मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 10 टीमों का गठन किया था। सबसे पहले इक्कर को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद मुख्य आरोपी डंपर चालक शब्बीर उर्फ मित्तर को गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद जाबिद उर्फ बिल्ला निवासी गंडवा थाना चौपान जिला अलवर व भुरु उर्फ तौफिक निवासी पचगांव जिला नूंह को 22 जुलाई को गिरफ्तार किया था।

इसके बाद 23 जुलाई को लंबू गंडवा जिला अलवर को बाईपास तावडू से तथा असरु उर्फ असरुद्दीन पुत्र अब्दुल निवासी पचगांव जिला नूंह को डिढारा बाईपास तावडू से गिरफ्तार किया था। कुल मिलाकर नूंह में डीएसपी हत्या मामले में अब तक 9 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। नूंह पुलिस के मुताबिक अभी और भी इस मामले में गिरफ्तारी होनी बाकी है। जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

बता दें कि नूंह में अरावली की पहाड़ियों में अवैध खनन पर छापामारी करने 18 जुलाई की रात DSP सुरेंद्र सिंह बिश्नोई गए थे।  डीएसपी सुरेंद्र के साथ एक गनमैन और एक ड्राइवर भी था।  जिनकी डंपर चालक ने कुचलकर हत्या कर दी थी।  डीएसपी ने खनन कर रहे लोगों को रोकने की कोशिश की। खनन कर रहे आरोपियों ने उनकी ट्रक से कुचलकर हत्या कर दी थी। वह छापामारी करने टौरू के पास पचगांव गए थे। पुलिस ने डीएसपी की हत्या में इस्तेमाल किए गए डंपर तथा  खनन के बाद पत्थर लोड करने वाले ग्रामीणों की भी पहचान कर ली है।