Thu, 25 Nov 2021

राखी सावंत ने घर से इसलिए चुराए थे पैसे, क्योंकि…?

राखी सावंत ने घर से इसलिए चुराए थे पैसे, क्योंकि…?

राखी सावंत ने घर से इसलिए चुराए थे पैसे, क्योंकि…

बॉलीवुड की हसीना राखी सावंत आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है लेकिन अगर आप उनके संघर्ष की कहानी जानोगे तो भावूक हो उठेंगे क्योंकि राखी ने बॉलीवुड में आने से पहले काफी संघर्ष किया है. जिसके बारे में कई बार राखी खुद भी बता चुकी हैं.

आप को बता दें की राखी सावंत 23 साल की उम्र से बॉलीवुड में काम कर रही है लेकिन आज भी उनके असली नाम को शायद ही कोई जानता है. राखी का असली नाम नीरू भेड़ा है. फिल्मों में आने के बाद उन्होंने अपना नाम बदलकर राखी सावंत रख लिया. राखी ने एक बार बताया था कि- वो घर से भागकर यहां आई थी. मैंने सब अपने दम पर किया. जब मैं ऑडिशन देने जाया करती थी तो डायरेक्टर-प्रोड्यूसर मुझे अपना टैलेंट दिखाने के लिए कहते थे.

“मैं तब नहीं जानती थी कि वह किस टैलेंट को दिखाने की बात कर रहे हैं. मैं तस्वीरें लेकर उनके पास जाती तो वह दरवाजा बंद कर देते थे. मैं जैसे-तैसे वहां से बाहर निकलती थी.”

राखी सावंत ने ये भी बताया था कि उनकी मां एक अस्पताल में आया का काम करती थीं. पिता मुंबई पुलिस में कॉन्सटेबल थे. हमारे यहां खाने की भी दिक्कत थी. हम लोग छोड़ा हुआ खाना ढूंढकर खाते थे.

“मात्र 11 साल की उम्र में डांडिया नाचने की जिद करने पर राखी की मां और मामा ने मिलकर राखी के लंबे बाल काट दिए थे. बालों को कुछ ऐसे काटा गया था कि उन्हें देखने पर लग रहा था कि बालों को जला दिया गया है.” ये सभी बातें राखी ने एक इंटरव्यू के दौरान कही थी.

“एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वालीं राखी आज जिस भी जगह खड़ी हैं वह अपने दम पर खड़ी हैं. राखी ने बताया था कि फिल्म इंडस्ट्री में आने के लिए वह घर से पैसे चुराकर भाग गईं थीं, क्योंकि उनके माता-पिता उनकी शादी करना चाहते थे.”

उन्हें एक्टिंग के बारे में कुछ नहीं पता था. राखी ने बताया था कि मैं जब मुंबई पहुंचीं तो मैंने कई निर्माताओं के सामने नाचना और अपनी प्रतिभा दिखाना शुरू किया, जिन्होंने मुझे बुरी नजर से भी देखा. मैंने सोच लिया था कि ऐसे लोगों के सामने डांस करने से अच्छा है मैं डांस बार में डांस करूंगी. मैंने कई बार ठुकराए जाने का सामना किया और लुक व रंग-रूप सुधारने के लिए सर्जरी का सहारा लिया.

“जब सर्जरी रूम में मैं नीरु भेड़ा के रूप में गई थी, लेकिन वहां अपने बेहतर रंग-रूप के साथ राखी सावंत के रूप में निकली.”

 

इसके बाद राखी को कुछ फिल्मों जैसे ‘जोरू का गुलाम’, ‘ जिस देस में गंगा रहता है’, ‘ये रास्ते में छोटे मोटे रोल्स ऑफर किए गए लेकिन उन्हें पहचान साल 2005 में ‘परदेसिया’ गाने से मिली. इस गाने ने राखी को आइटम गर्ल के नाम से मशहूर कर दिया.