Fri, 29 Jul 2022

Partha Chatterjee News: ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी को कैबिनेट से किया बाहर, देखे क्या बोले

Partha Chatterjee News: ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी को कैबिनेट से किया बाहर, देखे क्या बोले

WB SSC Scam: पश्चिम बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले (Teacher Recruitment Scam) में लिप्त पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) की मुश्किलें बढ़ती जा रही है. तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal CM Mamata Banerjee) ने उन्हें कैबिनेट से बाहर कर दिया है. पार्थ चटर्जी को कैबिनेट से बाहर करने के बाद सीएम ममता बनर्जी ने पहली प्रतिक्रिया दी है.

चौतरफा दबाव के बाद आखिरकार ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी को कैबिनेट से बाहर कर दिया है. लेकिन टीएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष ने उन्हें पार्टी से भी बाहर किए जाने की मांग की है.

ममता बनर्जी ने कहा एक लड़की के पास से पैसा बरामद हुआ है और वह इसे लगातार दिखा रहा है. मैंने उन्हें (पार्थ को) कैबिनेट से बाहर कर दिया है, क्योंकि मेरी पार्टी बहुत सख्त पार्टी है. अगर किसी को लगता है कि यह दिखाकर वे धारणा बदल सकते हैं तो वे गलत हैं. नाटक बहुत बड़ा है. अभी नहीं बताऊंगा. बता दें कि पार्थ चटर्जी इस समय प्रवर्तन निदेशालय की कस्टडी में हैं और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी (Arpita Mukherjee) के ठिकानों से करोड़ों रुपये निकलने का सिलसिला जारी है. 

ममता बनर्जी ने इशारों-इशारों में साधा निशाना

आपको बता दें इस घोटाले में पार्थ चटर्जी का नाम और उनकी गिरफ्तारी से लेकर अब तक ममता बनर्जी ने इस मामले में चुप्पी साध रखी थी. टीएमसी का कोई भी बड़ा नेता अभी तक इस मामले में खुलकर बोलने से बचता रहा है. अब जब इस मामले में ईडी रोजाना कोई ना कोई खुलासा कर रही है, तब जाकर सीएम ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी पर कार्रवाई करते हुए उन्हें कैबिनेट से बाहर कर दिया है. ममता बनर्जी ने इशारों-इशारों में इसे बीजेपी की साजिश करार दिया. 

कुणाल घोष ने पार्टी से बाहर करने की उठाई मांग

बता दें कि पार्थ चटर्जी के खिलाफ टीएमसी के कोई एक्शन नहीं लेने पर बीजेपी ने उनपर लगातार निशाना साध रही है. वहीं, दबाव बढ़ता देख टीएमसी के भीतर से ही पार्थ चटर्जी के खिलाफ आवाज उठने लगी थी. टीएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष ने मांग की है कि शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच के सिलसले में गिरफ्तार पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी को पार्टी से भी तत्काल निष्कासित किया जाना चाहिए.