Thu, 29 Jul 2021

पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों की ये है हालत ?

पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों की ये है हालत ?

पाकिस्तान देश जिसकी अधिकतर आबादी मुस्लिम धर्म से जुड़ी है| इतिहास में यह भारत का ही एक हिस्सा था शायद इसी वजह से यहां आज भी कई प्रसिद्ध मंदिर मौजूद हैं और लोग उनकी पूजा अर्चना भी करते हैं| आइये जानते हैं पाकिस्तान की धरती पर कुछ मुख्य हिन्दू मंदिर:-

 

पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों की ये है हालत ?

1) श्री वरुण देव मंदिर, कराची

धार्मिक आस्था से जुड़ा यह मंदिर पाकिस्तान देश के कराची में स्थित है| यह मंदिर हिन्दुओं के समुद्र देवता श्री वरुण देव जी को समर्पित किया गया है| ये ऐतिहासिक मंदिर 1000 साल पुराना है पर आज भी पाकिस्तान में रह रहे लोग मंदिर में माथा टेकने जाते हैं और शीश झुकाते हैं| मंदिर की प्रसिद्धि का कारण इसमें स्थापत्य कला है| श्री वरुण देव जी के प्रति विश्वास से भरपूर लोगों का मानना है कि समुद्र देव अपने भक्तों की स्वयं रक्षा करते हैं| अगर मंदिर की वर्तमान हालात की चर्चा करें तो पाकिस्तान हिन्दू काउंसिल ने खंडर पड़े इस मंदिर की इमारत को 2007 में तैयार करने का फैसला लिया था| जिसके बाद जून 2007 में इसका नियंत्रण पी एच सी द्वारा किया जा रहा है| मंदिर के निकटतम दो सिख धर्म के गुरूद्वारे और एक ईसाई धर्म की चर्च भी मौजूद है| यहां हर साल मई और जून के महीने में लोगों की संख्या अधिक दिखती है|

2) जगन्नाथ मंदिर, सियालकोट

हिन्दू धर्म के लिए यह पावन स्थल बहुत ही पवित्र है| पाकिस्तान में सबसे पुराने मंदिरों में इस मंदिर को भी गिना जाता है| जगन्नाथ मंदिर पाकिस्तान के सियालकोट में स्थित है| इस मंदिर की ख़ास बात यह है कि हिन्दू धर्म के साथ साथ मुस्लिम धर्म के लोगों की भी आस्था जुड़ी है और दोनों ही धर्म के लोग मंदिर में भगवान के दर्शन के लिए आते हैं| मंदिर के भीतर बनी दीवारों पर बहुत ही सुंदर और आकर्षित नक्काशी की गयी है| 2007 में पाकिस्तान देश के पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री चौधरी परवेज़ ने मंदिर की मनोदशा सुधारने के लिए 200000 रुपए दिए थे जिससे मंदिर की इमारत को पहले की तरह बनाया जा सके| मरम्मत पूर्ण होने के बाद यह मंदिर बहुत ही खूबसूरत दिखने लगा है| साल के जुलाई और अगस्त के महीने में यहां दोनों धर्मों के लोगों की भीड़ देखने को मिलती है| जो कि एक अद्भुत नजारा होता है|

 

क्य आपने जानते हैं बांग्लादेश में भी हैं हिन्दू मंदिर

 

3) पंचमुखी हनुमान मंदिर, कराची

हिन्दू धर्म का एक और विशेष मंदिर जिसे हिन्दुओं के भगवान हनुमान जी को समर्पित किया गया है| पंचमुखी हनुमान मंदिर पाकिस्तान के कराची के शॉल्जर में स्थित है| पाकिस्तान का यह मंदिर 1500 वर्ष पुराना है| इस मंदिर में हनुमान जी के पांच रूपों को दर्शाया गया है जिसमें नरसिम्हा, आदिवारगा, हयग्रीव, हनुमान और गरुड़ रूप मौजूद है| एक मान्यता है कि भगवान राम जी भी इस स्थान पर आये थे जिसके कारण मंदिर के प्रति लोगों की और भी आस्था जुड़ जाती है| भारत पाकिस्तान के विभाजन के बाद मंदिर में पहले की अपेक्षा कम लोग देखे जाते हैं| मंगलवार और शनिवार को यहां भक्त ओर दिन से ज्यादा आते हैं|

4) स्वामी नारायण मंदिर, कराची

हिन्दू धर्म का यह धार्मिक स्थल पाकिस्तान के कराची में स्थित है| इस मंदिर से दोनों समुदाय की आस्था जुड़ी है, दोनों ही धर्म के लोग इस मंदिर भगवान के दर्शन के लिए आते हैं| कराची में बना यह मंदिर 32,306 स्क्वॉयर क्षेत्र फल में फैला हुआ है| इस विशालकाय मंदिर में एक धर्मशाला भी मौजूद है जिसमे लोगों की ठहरने की पूर्ण रूप से व्यवस्था गयी है|

5) श्री हिंगलाज माता शक्ति मंदिर, बलूचिस्तान

पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों की ये है हालत ?
यह मंदिर हिन्दू धर्म का बहुत ही पवित्र स्थल है| श्री हिंगलाज माता शक्ति का मंदिर बलूचिस्तान में स्थित है| पाकिस्तान का यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है|

धर्म के इस केंद्र को हिन्दुओं की देवी माता सती को समर्पित किया हुआ है| इस धार्मिक स्थल को देवी के 51 शक्तिपीठो की सूचि में रखा जाता है| मंदिर एक प्राकृतिक गुफा में बना हुआ है| मंदिर की खास बात यह इस मंदिर में कोई भी मानव निर्मित प्रतिमा नही है| एक छोटे आकर की शिला की माता के प्रतिरूप में पूजा अर्चना की जाती है| इस मंदिर में पाकिस्तान के स्थानीय लोग भी सुरक्षा प्रदान करते हैं| एक मान्यता अनुसरा इस स्थान पर माता का सिर गिरा था|