Mon, 11 Jul 2022

hariyana :कुलदीप बिश्नोई इस्तीफा देने के बाद क्या बीजेपी होंगे शामिल कुलदीप ने बताया की....

 hariyana :कुलदीप बिश्नोई इस्तीफा देने के बाद क्या बीजेपी होंगे शामिल  कुलदीप ने बताया की....

  राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग कर बागी सुर दिखाने वाले कुलदीप बिश्नोई कल विधायक पद से इस्तीफा दे सकते हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद कुलदीप कल भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

विधायक रहते हुए भाजपा में शामिल होने पर सदस्यता हो जाएगी रद्द

गौरतलब है कि कुलदीप बिश्नोई वर्तमान में कांग्रेस के विधायक हैं। विधायक रहते यदि वे भाजपा में जाते हैं तो उनकी सदस्यता रद्द हो जाएगी। ऐसे में वे कल विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद ही भाजपा में शामिल होंगे। कुलदीप बिश्नोई ने गृहमंत्री अमित शाह व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की है। यह जानकारी बिश्नोई ने ट्वीट कर स्वयं दी है। कुलदीप बिश्नोई की भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात करने के बाद उनके भाजपा में शामिल होने के कयास लगाये जा रहे हैं।

हुड्डा ने भी बिश्नोई को विधायक पद से इस्तीफा देकर चुनाव लड़ने की दी है नसीहत

PunjabKesari

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आदमपुर से विधायक कुलदीप बिश्नोई के भाजपा में शामिल होने के सवाल पर कहा कि बिश्नोई तो पहले ही भाजपा से मिलीभगत किए हुए है। भाजपा में जाने से आदमपुर के मतदाताओं से धोखा होगा। अगर कुलदीप बिश्नोई को भाजपा में शामिल होना है तो पहले आदमपुर के विधायक के तौर पर इस्तीफा देना चाहिए। उसके बाद ही भाजपा में जाने का निर्णय लेना चाहिए। उसके बाद उन्हे पता चल जाएगा कि वे कितने पानी में हैं।

प्रदेशाध्यक्ष ना बनाए जाने से नाराज थे बिश्नोई, कार्तिकेय को किया था वोट

PunjabKesari

बता दें कि कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई पिछले काफ़ी दिनों से कांग्रेस से नाराज़ चल रहे हैं। उनकी नाराजगी का कारण उन्हें प्रदेशाध्यक्ष नहीं बनाना बताया जा रहा है। इसी नाराजगी के चलते बीते दिनों कुलदीप बिश्नोई ने राज्यसभा चुनाव में पार्टी लाईन से अलग होकर कांग्रेस प्रत्याशी अजय माकन के खिलाफ क्रॉस वोटिंग की थी, जिससे कांग्रेस उम्मीदवार को हार का मुंह देखना पड़ा था। राज्यसभा चुनाव में कुलदीप बिश्नोई ने भाजपा व जजपा समर्थित उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा को अपना वोट दिया था। राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन की हार होने पर कांग्रेस ने कुलदीप बिश्नोई पर कारवाई करते हुए उसे सभी पदों से हटा दिया था।