Wed, 17 Nov 2021

Pollution के कारण बढ़ गई सख्ती, नहीं हुआ अगर ये कागज तो देना होगा भारी चालान

Pollution के कारण बढ़ गई सख्ती, नहीं हुआ अगर ये कागज तो देना होगा भारी चालान

प्रदूषण के कारण बढ़ गई सख्ती, नहीं हुआ अगर ये कागज तो देना होगा भारी चालान

प्रदूषण Pollution को लेकर केंद्र और राज्य सरकारें काफी सख्त हो गई हैं | दिल्ली में लगातार प्रदूषण Pollution बढ़ रहा है जिसको लेकर दिल्ली सरकार कई अहम फैसले भी ले चुकी है | बढ़ते प्रदूषण Pollution का एक कारण वाहनों से निकलने वाले धुएं को भी माना जा रहा है जिसके चलते अब वाहन चालकों को एक अन्य कागज अपने साथ रखना होगा और अगर ये कागज उनके पास नहीं होता तो उन्हें भारी चालान को भुगतना होगा |
दरअसल, दिल्ली में प्रदूषण Pollution के बढ़ते स्तर को देखते हुए परिवहन विभाग ने प्रदूषण फैलाने वाली गाड़ियों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है| प्रदूषण को रोकने की मुहिम के तहत पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र यानी पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफेकेट की जांच की जा रही है |

 

Pollution के कारण बढ़ गई सख्ती, नहीं हुआ अगर ये कागज तो देना होगा भारी चालान
पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र यानी पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफेकेट (PUC) के बिना पेट्रोल भरवाते समय अब 10 हजार रुपये का चालान कट रहा है | इसके लिए परिवहन विभाग ने पेट्रोल पंपों पर सिविल डिफेंस वॉलंटियर की टीमें तैनात की हैं | इसलिए अपना गाड़ी का PUC जरूर बनवा लें.
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में प्रदूषण Pollution की स्थिति को देखते हुए ‘रेड लाइट ऑन-गाड़ी ऑफ कैंपेन’ का दूसरा चरण 19 नवंबर से 3 दिसंबर तक चलाया जाएगा |
बता दें किदिल्ली की जहरीले हवा में सांस लेना मुश्किल हो रहा है | हालात इतने भयावह हैं कि कमिशन फॉर एयर क्वालिटी ने दिल्ली-एनसीआर के स्कूल-कॉलेजों और शिक्षण संस्थाओं को अगले आदेश तक बंद रखने का आदेश दे दिया है |
आप ये जान लें कि एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) को शून्य और 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है|
हालांकि अब देखना ये होगा कि प्रशासन की इतनी सख्ती के बाद प्रदूषण पर कब तक कंट्रोल लग पाता है |