Wed, 22 Jun 2022

Afghanistan Earthquake: अफगानिस्तान में भूकंप से अब तक 920 लोगों की मौत, भारत ने किया मदद का ऐलान

Afghanistan Earthquake: अफगानिस्तान में भूकंप से अब तक 920 लोगों की मौत, भारत ने किया मदद का ऐलान

काबुल: अफगानिस्तान में आए भीषण भूकंप से मरने वालों की तादाद अब 1000 के करीब पहुंच गई है। तालिबान सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार, शक्तिशाली भूकंप में मरने वालों की संख्या 920 तक पहुंच गई है। इस घटना में 600 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। बचाव दल अब भी भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित पक्तिका और खोस्त प्रांत के सुदूर इलाकों तक नहीं पहुंच पाए हैं। ऐसे में यह तय माना जा रहा है कि इस भूकंप से मरने वालों की संख्या अभी काफी ज्यादा बढ़ने वाली है। खुद तालिबान के कई अधिकारियों ने बताया है कि भूकंप प्रभावित कई इलाकों तक राहत और बचाव टीमें अब भी पहुंचने की कोशिश कर रही हैं।
6.1 थी भूकंप की तीव्रता
यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे (USGS) के अनुसार, अफगानिस्तान में भूकंप बुधवार को तड़के आया था। रिएक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.1 मापी गई। यूएसजीएस ने कहा कि भूकंप का केंद्र खोस्त शहर से लगभग 46 किमी दूर पाकिस्तान की सीमा के करीब था। अफगानिस्तान की तालिबान सरकार में आपदा प्रबंधन के उप मंत्री मावलवी शराफुद्दीन मुस्लिम ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "अब तक हमारे पास यह जानकारी है कि कम से कम 920 लोग शहीद हुए हैं और 600 घायल हुए हैं।"
 

Official_ Afghanistan earthquake kills at least 920 people (1).

बढ़ सकती है मौत की तादाद
इससे पहले, तालिबान के आंतरिक मंत्रालय के अधिकारी सलाहुद्दीन अयूबी ने पहले कहा था कि मरने वालों की संख्या बढ़ने की संभावना है क्योंकि कुछ गांव पहाड़ों में दूरदराज के इलाकों में हैं और विवरण एकत्र करने में कुछ समय लगेगा। पक्तिका प्रांत के एक आदिवासी नेता याकूब मंजोर ने कहा कि बचे हुए लोग प्रभावित लोगों की मदद के लिए जुट रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्थानीय बाजार बंद हैं और सभी लोग प्रभावित इलाकों में पहुंच गए हैं।
 

Helicopter evacuates injured after massive Afghanistan earthquake.

लोगों को बचाने के लिए हेलीकॉप्टर तैनात
पक्तिका प्रांत के वीडियो फुटेज में पीड़ितों को क्षेत्र से एयरलिफ्ट करने के लिए हेलीकॉप्टरों को तैनात किया गया है। इन वीडियो में भूकंप से बर्बाद हुए घरों को भी दिखाया गया है, जिसके आस पास लोग टहलते नजर आ रहे हैं। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भूकंप के झटके इतने तेज थे कि इससे मिट्टी ही नहीं, बल्कि कंक्रीट से बने घर भी ताश के पत्तों की तरह ढह गए। इस भूकंप का दायरा करीब 200 किलोमीटर के इलाके में फैला हुआ था।

भारत ने भी किया मदद का ऐलान
भारतीय विदेश मंत्रालय ने अफगानिस्तान में आए भूकंप पर गहरा दुख जाहिर किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर कहा कि भारत अफगानिस्तान में आए दुखद भूकंप से प्रभावित सभी पीड़ितों और उनके परिवारों के लोगों के प्रति सहानुभूति और संवेदना व्यक्त करता है। हम अफगानिस्तान के लोगों के दुख को साझा करते हैं और जरूरत की इस घड़ी में सहायता और सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।