Thu, 23 Jun 2022

Agneepath Yojana : BSF, CRPF में 74,672 पदों पर भर्तिया, मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण

Agneepath Yojana : BSF, CRPF में 74,672 पदों पर भर्तिया, मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण

Agneepath Yojana : अग्निपथ योजना (Agneepath Recruitment Scheme) के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध के मद्देनजर केंद्र सरकार ने शनिवार को केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) और असम राइफल्स की भर्ती में अग्निवीरों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा की है। गृह मंत्रालय ने CAPF और असम राइफल्स में अग्निवीरों की भर्ती के लिए अपने 17.5 साल से 21 साल के पात्रता मानदंड में तीन साल की छूट देने का भी फैसला किया। विशेष रूप से रंगरूटों के पहले बैच को निर्धारित ऊपरी आयु सीमा से अधिक पांच वर्ष की छूट मिलेगी।
Agneepath Yojana में 10 फीसदी होगी रिक्तियां
केंद्र ने मंगलवार 14 जून को सशस्त्र बलों के लिए सरकार ने Agneepath Yojana (Agneepath Recruitment Scheme) का अनावरण किया। इस योजना को लेकर देश के अलग अलग शहरों में हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच शनिवार को गृह मंत्रालय ने बड़ा एलान कर दिया है। गृह मंत्रालय ने अग्निवीरों के लिए केंद्रीय आर्म्ड पुलिस फोर्स और असम राइफल्स में भर्ती के लिए 10 फीसदी रिक्तियों को आरक्षित करने का निर्णय लिया गया है।
Agneepath Recruitment Scheme में दी गई आयु में छूट
आपको बता दें कि इस योजना में सरकार छात्रों को दो बलों में भर्ती के लिए अग्निवीरों को ऊपरी आयु सीमा से 3 साल की छूट दी गई। इसके अलावा अग्निवीर के पहले बैच के लिए आयु में अधिकतम आयु सीमा से 5 साल की छूट होगी।
Agneepath Recruitment Scheme में दी गई आयु में छूट
आपको बता दें कि इस योजना में सरकार छात्रों को दो बलों में भर्ती के लिए अग्निवीरों को ऊपरी आयु सीमा से 3 साल की छूट दी गई। इसके अलावा अग्निवीर के पहले बैच के लिए आयु में अधिकतम आयु सीमा से 5 साल की छूट होगी।

Agneepath Scheme में CAPF और असम राइफल्स की भर्ती
केंद्र सरकार देश में CAPF और असम राइफल्स में अग्निवीरों की भर्ती की योजना बना रही है। जिसके चलते देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इस विरोध प्रदर्शन ने देश की शांति भंग कर दी है। देश के कई राज्यों में Agneepath Recruitment Scheme को लेकर हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। सशस्त्र बल अगले हफ्ते से अग्निपथ योजना के तहत भर्ती शुरू करेंगे।
CAPF और असम राइफल्स को मिलेगा 10 % आरक्षण
इससे पहले अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का दूरदर्शी निर्णय बताते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि सशस्त्र बलों के लिए नई भर्ती योजना युवाओं को एक उज्जवल भविष्य प्रदान करेगी। अमित शाह ने कहा है कि Agneepath Yojana (Agneepath Scheme) के तहत प्रशिक्षित युवा राष्ट्र की सेवा और सुरक्षा में अधिक योगदान देंगे। इसके साथ ही गृह मंत्री ने बताया था कि CAPF और असम राइफल्स में अग्निवीरों की भर्ती के लिए विस्तृत योजना चल रही थी।

CAPF और असम राइफल्स को मिलेगा 10 % आरक्षण
इससे पहले अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का दूरदर्शी निर्णय बताते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि सशस्त्र बलों के लिए नई भर्ती योजना युवाओं को एक उज्जवल भविष्य प्रदान करेगी। अमित शाह ने कहा है कि Agneepath Yojana (Agneepath Scheme) के तहत प्रशिक्षित युवा राष्ट्र की सेवा और सुरक्षा में अधिक योगदान देंगे। इसके साथ ही गृह मंत्री ने बताया था कि CAPF और असम राइफल्स में अग्निवीरों की भर्ती के लिए विस्तृत योजना चल रही थी।
पांच विंग में खाली है 73000 से अधिक पद
वर्तमान में अर्धसैनिक बलों के पांच विंग सीमा सुरक्षा बल (BSF), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF), भारत तिब्बत सीमा पुलिस ( ITBP), शास्त्र सीमा बल (SSB) और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा फोर्स (CISF) में 73000 से अधिक पद खाली है। आवेदक इस भर्ती के लिए जल्द आवेदन कर सकता है।
25 प्रतिशत को मिलेगा सेना में नौकरी का फायदा
रक्षा नौकरी चाहने वालों ने अपने अगले कदम के बारे में चिंता व्यक्त की है, क्योंकि चार साल पूरे होने के बाद योजना के माध्यम से भर्ती किए गए सैनिकों में से केवल 25 प्रतिशत को ही पूर्ण कार्यकाल के लिए रखा जाएगा। अग्निपथ योजना के माध्यम से भर्ती किए गए और अवशोषित नहीं किए गए युवाओं को बिना पेंशन लाभ के राहत दी जाएगी।
पांच विंग में खाली है 73000 से अधिक पद
वर्तमान में अर्धसैनिक बलों के पांच विंग सीमा सुरक्षा बल (BSF), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF), भारत तिब्बत सीमा पुलिस ( ITBP), शास्त्र सीमा बल (SSB) और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा फोर्स (CISF) में 73000 से अधिक पद खाली है। आवेदक इस भर्ती के लिए जल्द आवेदन कर सकता है।
25 प्रतिशत को मिलेगा सेना में नौकरी का फायदा
रक्षा नौकरी चाहने वालों ने अपने अगले कदम के बारे में चिंता व्यक्त की है, क्योंकि चार साल पूरे होने के बाद योजना के माध्यम से भर्ती किए गए सैनिकों में से केवल 25 प्रतिशत को ही पूर्ण कार्यकाल के लिए रखा जाएगा। अग्निपथ योजना के माध्यम से भर्ती किए गए और अवशोषित नहीं किए गए युवाओं को बिना पेंशन लाभ के राहत दी जाएगी।