Fri, 15 Jul 2022

कांग्रेस नेता की टिप्पणी संसद भवन में भूख हड़ताल, धरने पर पाबंदी! ​​​​​​

कांग्रेस नेता की टिप्पणी संसद भवन में भूख हड़ताल, धरने पर पाबंदी!

संसद के मॉनसून सत्र के शुरू होने से पहले ही सरकार और विपक्ष के बीच कुछ मुद्दों को लेकर पहले ही बहस छिड़ गई है। वहीं अब कांग्रेस नेता संसद से जुड़ा एक आदेश शेयर करते हुए मोदी सरकार को घेर रहे हैं। दरअसल शेयर किए गए आदेश में संसद भवन के भीतर कोई सदस्य धरना, हड़ताल, भूख हड़ताल नहीं कर सकेगा, इस बात की जानकारी दी गई है। इतना ही नहीं इसके अलावा किसी भी प्रकार के धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन संसद भवन के परिसर में नहीं किया जा सकेगा।

विपक्षी पार्टियां इस फैसले को लेकर भड़क गई है। बता दें कि कांग्रेस के सीनियर नेता और राज्यसभा सांसद जयराम रमेश ने आदेश की कॉपी को शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा कि विश्व गुरु का नया कामndharna  मना है। 

जानकारी के लिए बता दें कि मानसून स्तर की शुरुआत से पहले यह दूसरा विवाद है। दरअसल इससे पहले लोकसभा सचिवालय की तरफ से जारी की गई लिस्ट पर विवाद अभी तक थमा नहीं है। गौरतलब है कि इस लिस्ट में कई शब्दों को असंसदीय बता कर उन पर पाबंदी लगा दी गई है। यानी इन शब्दों का प्रयोग लोकसभा और राज्यसभा में नहीं किया जा सकेगा। इन शब्दों में शामिल है- जुमलाजीवी, तानाशाह, शकुनी, जयचंद, विनाश पुरुष, खून से खेती इत्यादि को अब संसद में प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। विपक्षी पार्टियों समेत बड़े नेता राहुल गांधी, असदुद्दीन ओवैसी तथा आम आदमी पार्टी ने भी इस मामले में मोदी सरकार को घेरा है।