Thu, 4 Aug 2022

Haryana: इन 30 गांव से होकर गुजरेगा, हरियाणा में बनेगा 41 km लंबा एक्सप्रेसव

Haryana: इन 30 गांव से होकर गुजरेगा, हरियाणा में बनेगा 41 km लंबा एक्सप्रेसवे

Haryana Greenfield Expressway:  जेवर एयरपोर्ट और यमुनानगर एक्सप्रेसवे को दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे से जोड़ने के लिए ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जा रहा है। इस एक्सप्रेस-वे को बनाने के लिए कंपनी का भी चुनाव हो चुका है। यहां तक कि कंपनी की ओर से ब्लूप्रिंट भी तैयार कर लिया गया है। अगले 2 साल के भीतर हरियाणा को एक और एक्सप्रेसवे मिल जाएगा। खास बात यह है कि यह एक्सप्रेसवे हरियाणा के 20 गांव से होकर गुजरेगा। हरियाणा में बनने जा रहे इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे को बनाने की तमाम तैयारियां शुरू हो चुकी है। 31 किलोमीटर के इस एक्सप्रेस-वे को बनाने के लिए 12 कंपनियां दौड़ में थी, जिसके बाद इफको इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड को इस एक्सप्रेस-वे को बनाने की जिम्मेदारी दी गई है।

हरियाणा में 31 किलोमीटर के ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण होने जा रहा है। यह एक्सप्रेसवे 2414 करोड़ रूपए की लागत से बनाया जाएगा। एक्सप्रेस वे को बनाने के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी को चुना गया है। कंपनी की ओर से एक्सप्रेसवे निर्माण की तमाम तैयारियां भी शुरू कर दी गई है। 

हरियाणा के 20 गांव से गुजरेगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे

ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के ब्लू प्रिंट में गौतम बुद्ध नगर और फरीदाबाद के 20 गांव शामिल किए गए हैं। जिसमे गौतम बुद्ध नगर के 6 और फरीदाबाद के 14 गांव लिए गए हैं। गांवों के नाम इस तरह से हैं। गौतम बुद्ध नगर के दयानतपुर, बल्लभनगर, करौली बांगर, फलैदा बांगर, अमरपुर और झुप्पा गांव है. वहीं फरीदाबाद के फलैदा खादर, बाहपुर कलां, छांयसा, मोहियापुर, मोहना, हीरापुर, मेहमदपुर, नरहावाली, पन्हेरा खुर्द, फफूंडा, बाहभलपुर, सोताई, चनावली और शाहूपुरा गांव से गुजरेगा।

ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे को बनाने की दौड़ में 12 कंपनियां

दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे को जोड़ने वाले ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के निर्माण की 12 कंपनियां शामिल थी। जिसमें जीआर इंफ्राप्रोजेक्ट्स लिमिटेड, मोंटेकार्लो लिमिटेड, पीएनसी इंफ्राटेक लिमिटेड, अदानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड, एचजी इंफ्रा इंजीनियरिंग लिमिटेड, एप्को इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड, केसीसी बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड, सीडीएस इंफ्रा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, दिनेश चंद्र आर अग्रवाल इंफ्राकॉन प्राइवेट लिमिटेड, ग्वार कंस्ट्रक्शन लिमिटेड, ओरिएंटल स्ट्रक्चरल इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड और अशोका बिल्डकॉन लिमिटेड भी थी लेकिन अंत में इफको इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड को इसकी जिम्मेदारी दी गई।

31 किलोमीटर हाईवे का यूपी में रहेगा 7 किलोमीटर  

हरियाणा के बल्लभगढ़ से होते हुए चंदावली के पास दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे का एक हिस्सा गुजर रहा है। बल्लभगढ़ से जेवर की दूरी करीब 31 किमी है। हरियाणा सरकार के साथ मिलकर यूपी सरकार ने जेवर पाइंट पर दोनों एक्सप्रेस वे को जोड़ने की मांग की थी। हालांकि शुरू में जमीन अधिग्रहण के खर्च पर हरियाणा सरकार राजी नहीं हुई थी। 31 किमी के हाइवे में 7 किमी का हिस्सा यूपी में है और बाकी का हरियाणा में। बल्लभगढ़ से आने वाली सड़क यमुना एक्सप्रेसवे के 32वें किलोमीटर पर जुड़ेगी। यहां इंटरचेंज की मदद से ट्रैफिक यमुना एक्सप्रेसवे पर आगे बढ़ जाएगा। इंटरचेंज पर ही चार Loop भी बनाए जाएंगे. दो लूप चढ़ने और दो उतरने के लिए होंगे।