Wed, 13 Jul 2022

रोहतक की 35 सदस्यीय टीम ने प्रसिद्ध कपड़ा शोरूम पर मारा छापा, पंजाब, राजस्थान तक से आते हैं ग्राहक ​​​​​​

रोहतक की 35 सदस्यीय टीम ने प्रसिद्ध कपड़ा शोरूम पर मारा छापा, पंजाब, राजस्थान तक से आते हैं ग्राहक

फतेहाबाद। हरियाणा के फतेहाबाद में सेंट्रल जीएसटी रोहतक की 35 सदस्यीय टीम ने देर शाम गांव माजरा स्थित प्रसिद्ध कपड़ा कारोबारी के शोरूम पर रेड की। टीम रोहतक से सीधे शोरूम पर पहुंची और कार्रवाई शुरू कर दी। सुरक्षा के तौर पर सदर थाना पुलिस की टीम भी मौजूद रही। हालांकि, मीडिया से लेकर पुलिस तक को जीएसटी टीम ने रुटीन कार्रवाई बताते हुए किसी भी प्रकार की जानकारी देने से इनकार कर दिया। 

मिली जानकारी के अनुसार गांव माजरा स्थित प्रेम वस्त्र भण्डार शोरूम फतेहाबाद व आसपास के जिलों में ही साथ लगते नहीं, राजस्थान व पंजाब में भी काफी मशहूर है। इन क्षेत्रों से काफी संख्या में लोग खरीददारी करने के लिए स्पैशल गांव माजरा आते हैं। बताया जाता है कि विभाग को जीएसटी चोरी की सूचना मिली थी जिसके बाद यह कार्यवाही की गई है। प्रेम वस्त्र भंडार पर छापेमारी की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गई और काफी संख्या में ग्रामीण भी इकट्ठा हो गए लेकिन पुलिस ने उन्हें वापस घर भेज दिया। बताया जाता है कि स्टॉक अधिक होने के कारण विभाग की यह जांच बुधवार को भी जारी रह सकती है।

जानकारी के अनुसार सेंट्रल जीएसटी कार्यालय रोहतक से सुपरिंटेंडेंट विजय कुमार के नेतृत्व में 35 सदस्यीय टीम गठित कर फतेहाबाद भेजी गई। टीम को कपड़ा कारोबारी के व्यापार के संबंध में कुछ इनपुट मिला था। यहां से कुछ स्थानीय अधिकारियों को भी साथ रखा गया। टीम शाम 7 बजे माजरा स्थित प्रेम वस्त्र भंडार के दो मंजिला शोरूम पर पहुंची और रात 9 बजे तक कपड़े के स्टॉक का मिलान करती रही। जीएसटी विभाग की टीम के साथ काफी संख्या में पुलिस कर्मचारी भी थे।

दरअसल, इलाके के सबसे बड़े कपड़ा कारोबारी प्रेम वस्त्र भंडार के मालिक प्रेम कुमार लंबे समय से सस्ते कपड़े बेचने का कारोबार करते हैं। उनके गांव में स्थित इस शोरूम में आसपास के जिलों से लेकर पंजाब व राजस्थान तक से ग्राहक आते हैं। पहले छोटे लेवल पर कारोबार था, लेकिन पिछले कुछ सालों में दो मंजिला बड़े भवन में बड़े स्तर पर कारोबार फैला लिया गया है। अब करोड़ों में कारोबार हो रहा है। ऑनलाइन भी कपड़े की डिलीवरी की जाती है।

प्रेम कुमार व उनके परिवार का यह कपड़े का कारोबार लगातार बढ़ता रहा है। इसके बावजूद उन्होंने जिला मुख्यालय के शहर फतेहाबाद की बजाय गांव माजरा में ही शोरूम रखा। माजरा सस्ते कपड़े का गढ़ बन गया है। अब यहां प्रेम वस्त्र भंडार के अलावा भी कई शोरूम बन चुके हैं।