Sun, 19 Jun 2022

अफगानिस्तान में गुरुद्वारे पर हमला:काबुल में गुरुद्वारा कर्ते-परवान में धमाके,दो की मौत; सभी हमलावर मारे गए

अफगानिस्तान में गुरुद्वारे पर हमला:काबुल में गुरुद्वारा कर्ते-परवान में धमाके,दो की मौत; सभी हमलावर मारे गए

अफगानिस्तान के काबुल में शनिवार को गुरुद्वारे पर हमला हुआ। हमले में गार्ड समेत दो अफगानी नागरिक मारे गए हैं। इनमें एक हिंदू था। हमले में कुल 7 लोग घायल हुए हैं। उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। तालिबान सुरक्षाबलों ने विस्फोटकों से भरे एक वाहन को गुरुद्वारे तक पहुंचने से रोककर बड़ा हमला टाल दिया।

आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल नफी टाकोर ने बताया कि सभी हमलावरों को मार गिराया गया है। हालांकि उन्होंने इसकी विस्तार से जानकारी नहीं दी

भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस मामले को लेकर कहा है कि गुरुद्वारा कर्ते-परवान पर हुए कायराना हमले की हम कड़ी निंदा करते हैं। हमले की खबर मिलने के बाद से ही हम घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं। सिख कम्युनिटी की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है।

धमाकों के बाद काबुल के गुरुद्वारा दशमेश पिता साहिब जी कर्ते परवान में केवल आग और धुआं नजर आ रहा था।

धमाकों के बाद काबुल के गुरुद्वारा दशमेश पिता साहिब जी कर्ते परवान में केवल आग और धुआं नजर आ रहा था।

टोलो न्यूज के मुताबिक, काबुल के गुरुद्वारा कर्ते-परवान के गेट के बाहर शनिवार सुबह 7.30 बजे (भारतीय समयानुसार सुबह 8.30 बजे) कई ब्लास्ट हुए। गुरुद्वारा परिसर के अंदर भी दो ब्लास्ट हुए। अंदर के ब्लास्ट से गुरुद्वारा से जुड़ी कुछ दुकानों में आग लग गई, जो पूरे परिसर में फैल गई।

काबुल का गुरुद्वारा कर्ते परवान आबादी के बीच बना है। स्थानीय लोगों ने सबसे पहले यहां धमाके सुने।

काबुल का गुरुद्वारा कर्ते परवान आबादी के बीच बना है। स्थानीय लोगों ने सबसे पहले यहां धमाके सुने।

दरबार हॉल तक फैली आग
स्थानीय लोगों ने सबसे पहले यह नजारा देखा। गुरुद्वारे से 3 लोग बाहर आने में कामयाब रहे, जिनमें से 2 घायल थे। इन्हें अस्पताल भेजा गया। बताया जाता है कि घटना के समय अंदर करीब 30 लोग थे। गुरुद्वारा दशमेश पिता साहिब जी कर्ते परवान में केवल आग और धुआं नजर आ रहा था। श्री गुरु ग्रंथ साहिब और गुरुद्वारे के मुख्य दरबार हॉल तक भी आग के फैलने की खबर मिली है। हालांकि बाद में श्री गुरु ग्रंथ साहिब को सुरक्षित बाहर निकाल लिए जाने की खबर आई। वहां फंसे लोगों को भी सुरक्षित निकाल लिया गया है।

गुरुद्वारे के दरबार हॉल तक भी आग फैलने की खबर है, हमले से पहले दरबार हॉल ऐसा दिखाई देता था।

गुरुद्वारे के दरबार हॉल तक भी आग फैलने की खबर है, हमले से पहले दरबार हॉल ऐसा दिखाई देता था।

इससे पहले हमलावरों ने वहां फायरिंग भी की थी। इसी फायरिंग में गुरुद्वारे का मुस्लिम गार्ड मारा गया था। तालिबान के सैनिकों ने गुरुद्वारा को घेर लिया।बाद में सरकारी विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि हमलावर मार दिए गए हैं।

मार्च 2020 में हुए हमले के बाद गुरुद्वारा हर राय साहिब की तस्वीर।

मार्च 2020 में हुए हमले के बाद गुरुद्वारा हर राय साहिब की तस्वीर।

2 साल पहले गुरुद्वारे पर हमले में हुई थी 25 लोगों की मौत
25 मार्च 2020 को ISIS-हक्कानी नेटवर्क के बंदूकधारी और फिदायीन हमलावरों ने काबुल में गुरुद्वारा हर राय साहिब पर हमला किया था। तब गुरुद्वारा में करीब 200 लोग मौजूद थे, जिसमें से 25 लोगों की मौत हुई थी। मरने वालों में एक बच्चा भी शामिल था। हमले में 8 लोग घायल हुए थे। कई घंटों तक सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चली थी, जिसमें सभी आतंकी मारे गए थे।