Fri, 29 Jul 2022

Ek Villain Returns Review: सीरियल किलर बना स्माइली किलर, फॉर्मूले को तोड़ने में फिर चूके मोहित सूरी, देखे मूवी

Ek Villain Returns Review: सीरियल किलर बना स्माइली किलर, फॉर्मूले को तोड़ने में फिर चूके मोहित सूरी, देखे मूवी

 हिंदी सिनेमा के चर्चित भट्ट कैंप से छिटकर अपना अलग वजूद बनाने वाले निर्देशक मोहित सूरी ‘सीक्वल मास्टर’ कहलाते हैं। 17 साल के निर्देशन करियर में उनकी जो दो फिल्में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्में रही हैं, वे हैं ‘मर्डर 2’ और ‘आशिकी 2’। कहते हैं कि महेश भट्ट ने फिल्म ‘आशिकी 2’ देखने के बाद कहा था कि अब अपने करियर में वह इससे अच्छी फिल्म शायद ही बना पाएं। मोहित सूरी ने इसके तुरंत बाद फिल्म ‘एक विलेन’ बनाई। फिल्म हिट रही लेकिन इसके बाद रिलीज हुईं उनकी लगातार तीन फिल्में ‘हमारी अधूरी कहानी’, ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ और ‘मलंग’ को अपेक्षित सफलता नहीं मिली। अब मोहित सूरी एक और सीक्वल लेकर आए हैं ‘एक विलेन रिटर्न्स’। ‘राज: द मिस्ट्री कान्टीन्यूज’ को भी मिला लें तो ये उनकी चौथी सीक्वल फिल्म है। उनकी एक और सीक्वल ‘मलंग 2’ पर भी काम जारी है।

एक विलेन रिटर्न्स

छलावे की कहानी की कमजोर पटकथा

मोहित सूरी की ताजा फिल्म ‘एक विलेन रिटर्न्स’ अपनी कहानी का सिरा आठ साल पहले आई उनकी आखिरी कामयाब फिल्म ‘एक विलेन’ से जोड़ती है। पुलिस कहती है कि ‘एक विलेन’ लौट आया है। ये विलेन एक सीरियल किलर है जो ऐसी लड़कियों को मारता है जो लड़कों के एक तरफा प्यार को ठुकरा देती हैं। उसका अपना भी कुछ ऐसा ही इतिहास रहा है और वह अपनी अलग दुनिया में जी रहा है। इस दुनिया में उसे सब कुछ अपने हिसाब का दिखता है। उसकी गर्लफ्रेंड उसके साथ है। वह उसके साथ गाने गाता है। साथ में नहाता है। और जब मन करता है हमबिस्तर भी हो लेता है। लेकिन, ये सच है या छलावा, उसे भी नहीं पता। कहानी की गुत्थी दर्शकों को उलझाती चलती है। कभी छह महीने पीछे तो कभी आज में तो कभी फिर तीन महीने पीछे। फिल्म की शुरुआत में दो कहानियां इसी टाइम लाइन पर चलती हैं। फिर दोनों कहानियां आकर वहां मिलती हैं जहां एक और सिरफिरा आशिक अपनी गर्लफ्रेंड के घर में घुसता है। पुलिस दोनों के सिरे जोड़ती है और तहकीकात में जो कुछ सामने आता है, उसका परिणाम कहानी को फिर वहां ले जाता है जहां फिल्म ‘एक विलेन’ खत्म हुई थी। मोहित सूरी फिल्म की तीसरी कड़ी की गुंजाइश भी छोड़ जाते हैं।

एक विलेन रिटर्न्स

तर्क के धरातल पर बिखरी फिल्म

फिल्म ‘एक विलेन रिटर्न्स’ एक कमजोर कहानी पर आधारित फिल्म है। ये कहानी और फिर इस पर बुनी गई पटकथा हर मामले में लड़कियों को ही दोषी ठहराती है। एक इंटरनेशनल ब्रांड के शोरूम में काम करने वाली लड़की बोनस और प्रमोशन के लिए अपने बॉस के साथ हमबिस्तर होने को जायज ठहराती है। बारिश में भीगते अपने प्रेमी को एक दूसरी लड़की इसलिए दुत्कार कर भगाने की कोशिश करती है क्योंकि वह अपना सच्चा प्रेम उसके सामने प्रकट कर रहा है और वह लड़की दूसरा प्रेमी तलाश कर चुकी है। कोई एक ऐसा शहर है जिसमें रईसों की शादियों में होने वाले हंगामों पर पुलिस चूं तक नहीं करती। पुलिस वाले मराठी बोलते हैं तो माना जा सकता है शहर मुंबई ही है लेकिन एक दर्जन से ज्यादा लड़कियों के मर्डर हो जाने पर भी पुलिस सिर्फ एक गायिका के लापता होने पर ही सबसे ज्यादा सक्रिय दिखती है। आखिर, फिल्म की वह हीरोइन जो ठहरी।