Sun, 12 Jun 2022

टेनिस स्टार निक किरियोस पर नस्लीय हमला, मैच के दौरान कहे गए ऐसे-ऐसे शब्द की छलक पड़ा दर्द

टेनिस स्टार निक किरियोस पर नस्लीय हमला, मैच के दौरान कहे गए ऐसे-ऐसे शब्द की छलक पड़ा दर्द

खेल की दुनिया में कई बार खिलाड़ियों को नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ता है. चाहे क्रिकेट हो या फुटबॉल या टेनिस ये चीज हमेशा से चलती आई है और कई बार खिलाड़ियों ने इसके खिलाफ आवाज बुलंद की है, लेकिन बदला कुछ भी नहीं है. इस तरह की टिप्पणियों का हालिया मामला टेनिस के प्रतिष्ठित टूर्नामेंट स्टुटगार्ट ओपन (Stuttgart Open) से और शिकार हुए हैं ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी निक किरियोस (Nick Kyrgios). निक किरियोस ने कहा कि स्टुटगार्ट ओपन टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में एंडी मरे से हार के दौरान उन्हें दर्शकों की नस्लीय टिप्पणियों का सामना करना पड़ा. किरियोस ने मरे से 7-6 (5), 6-2 से हारने के बाद इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया कि उन्होंने शनिवार को खेले गए मैच में दर्शकों की अपमानजनक टिप्पणियां सुनीं.

उन्होंने इंस्टाग्राम पर अपनी स्टोरी में लिखा, ” यह सब कब रुकेगा? दर्शकों की नस्ली टिप्पणियों का सामना करना? मैं जानता हूं मेरा व्यवहार हर समय सबसे अच्छा नहीं रहता लेकिन काली भेड़ और चुप रहो और खेलो जैसी टिप्पणियां कतई स्वीकार्य नहीं हैं. जब मैं दर्शकों को जवाब देता हूं तो मुझे दंडित किया जाता है. यह सही नहीं है.

किरियोस पर लगी पेनल्टी

पहला सेट टाई ब्रेकर खत्म होने के बाद किरियोस ने अपना रैकेट तोड़ा और इसी कारण उन पर पॉइंट पेनल्टी लग गई. इसके बाद दूसरे सेट में खेल भावना के खिलाफ व्यवहार करने के लिए उन पर गेम पेनल्टी भी लगाई गई. दूसरे सेट में वह दर्शकों के पास गए और पूछा, “तुमने क्या कहा.” इसके बाद किरियोस बैठ गए और उन्होंने तब तक मैच शुरू नहीं किया जब तक टूर्नामेंट सुपरवाइजर से बात नहीं कर ली.

किरियोस ने लिखा, “एक चीज जो मैं कभी बर्दाश्त नहीं कर सकता वो ये है कि दर्शक खिलाड़ी को घेरे और गालियां दें. ये मेरे साथ निजी तौर पर हो रहा है. नस्लीय टिप्पणी से लेकर अपमानजनक व्यवहार तक. सालों तक मैं इसे नजरअंदाज कर हा था लेकिन इंडियन वेल्स में और आज स्टुटगार्ट में हो हुआ, उसने मुझे एहसास दिलाया है कि लोगों को लगता है कि ये आम बात है.